Random Posts

पत्नी ने खुद ढूंढी अपनी सौतन, कराई पति की दूसरी शादी, जाने क्यों किया महिला ने ऐसा

एक से अधिक बीवी का होना कोई नया कांसेप्ट नहीं हैं. कुछ धर्मों में इसकी इजाजत हैं. आप लोग भी इस तरह की शादियाँ देख या सुन चुके होंगे. हालाँकि जब हस्बैंड दूसरी बीवी लाता हैं तो ये निर्णय उसका खुद का या फिर घर के अन्य सदस्यों का होता हैं. इसमें उसकी पहली पत्नी कोई भूमिका नहीं निभाती हैं. बल्कि कोई भी पत्नी शायद ही ये चाहेगी कि उसका पति घर में दूसरी बीवी ले आए. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी वाइफ से मिलाने जा रहे हैं जिसने खुद अपने पति के लिए ना सिर्फ दूसरी बीवी ढूंढी बल्कि उसे दूसरी शादी करने के लिए फ़ोर्स भी किया. तो आखिर उस पत्नी ने ऐसा क्यों और किस वजह से किया? इसके पीछे उसकी क्या सोच थी? इन सभी सवालों का जवाब जानने के लिए पूरा आर्टिकल आवश्य पढ़े.
हम यहाँ जिस पत्नी का जिक्र कर रहे हैं वो मलेशिया में रहती हैं और उसका नाम huzatul Atiqah हैं. साल 2011 में Atiqah की शादी Samuel Dzul नाम के लड़के से हुई थी. 2018 में महिला गर्भवती हुई तो उसकी हालत थोड़ी बिगाड़ने लगी. ऐसे में उसे आईडिया आया कि मुझे अपने हस्बैंड की देखरेख के लिए अपनी सौतन यानी पति की दूसरी बीवी ढूंढना चाहिए. आप लोगो को ये चीज पागलपन लगे लेकिन महिला का मानना हैं कि एक पत्नी होने के नाते ये मेरा फर्ज हैं कि मैं अपने पति की पूरी देखभाल करून. अब चूँकि गर्भाशय के दौरान ख़राब तबियत के चलते वो ऐसा करने में सक्षम नहीं थी इसलिए उसने पति की देखरेख हेतू अपनी सौतन ढूंढना शुरू कर दिया.
माँ बनने जा रही इस महिला ने अपने दिल की बात और चिंता फेसबुक के माध्यम से लोगो के साथ शेयर भी की हैं. महिला ने बताया कि मैं बीमार हूँ और हालात में भी कोई सुधार नहीं हो रहा हैं. यहाँ तक कि मुझे एक स्थान से दुसरे स्थान पर जाने के लिए भी व्हीलचेयर का सहारा लेना पड़ता हैं. ऐसे में महिला को ये चिंता सता रही थी कि यदि उसके साथ कुछ बुरा हो गया तो उसके पति, बच्चे और परिवार का क्या होगा. बस यही वजह थी कि महिला अपने पति की दूसरी शादी कराना चाहती थी ताकि उन्हें घर के कामो और देखरेख में मदद मिल जाए.

अपने हस्बैंड के लिए दूसरी वाइफ ढूँढने का काम भी खुद महिला ने ही किया. दरअसल उसकी मुलाकर फेसबुक पर ही एक सिंगल मदर Nur Fathonah से हुई थी. ये दोनों अच्छे दोस्त बन गए थे. ऐसे में महिला ने नूर से कहा कि तुम्हे मेरे हस्बैंड की वाइफ बन जाना चाहिए. कुछ विचार विमर्श और मुलाकातों के बाद नूर इस चीज के लिए राज़ी हो गई. महिला, उसका हस्बैंड, नूर और इनके बच्चे सभी आपस में अच्छे से घुलमिल गए. ऐसे में नूर ने पक्का मन बना लिया कि वो ये शादी करेगी.
Atiqah बताती हैं कि वो खुद पहले एक से अधिक शादियों के पक्ष में नहीं थी हालाँकि ससुराल में रहने के बाद उसकी सोच बदल गई. दरअसल उसके ससुर की तीन तीन बीवियां हैं. ऐसे में Atiqah ने देखा कि कैसे उसकी तीनो साँसे आपस में मिलजुल कर रहती हैं. इसके साथ ही ज्यादा बीवियों के होने से घर के काम काजो में भी मदद मिल जाती हैं. जिम्मेदारी भी बंट जाती हैं.
वैसे आपको क्या लगता हैं एक से ज्यादा बीवी का होना अच्छी बात हैं? अपने जवाब कमेंट में जरूर दे.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ