Random Posts

बुरे वक्त में जो आत्मविश्वास मजबूत रखते हैं, वो जरूर कामयाब होते है

स्वामी विवेकानंद जी का जीवन करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणादायक है और इनके जीवन से हमें काफी कुछ सीखने को मिलता है। आज हम आपको स्वामी विवेकानंद के जीवन का एक ऐसा प्रसंग बताने जा रहे हैं। जिसे पढ़ने के बाद आपके अंदर आत्मविश्वास पैदा हो जाएगा और आप अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रोत्साहित होंगे।
कहा जाता है कि एक बार स्वामी विवेकानंद जी विदेश यात्रा पर गए हुए थे और उस दौरान ही इनकी मुलाकात एक महिला से हुई। ये महिला काफी अमीर परिवार से ताल्लुक रखती थी। ये महिला स्वामी विवेकानंद जी से काफी प्रभावित थी और इस महिला ने स्वामी विवेकानंद जी को अपना गुरु बना लिया था। एक दिन स्वामी विवेकानंद जी इस महिला के साथ गाड़ी में कहीं जा रहे थे। कुछ दूर जाने के बाद गाड़ी वाले ने अपनी गाड़ी को रोक दिया और सड़क किनारे बैठी एक महिला और बच्चों को कुछ रूपए देने लगा।
इस व्यक्ति को ऐसा करता देख गाड़ी में स्वामी जी के साथ बैठी महिला हैरान हो गई। जब ये व्यक्ति वापस से अपनी गाड़ी में आया तो महिला ने इस व्यक्ति से पूछा, तुमने इन लोगों को पैसे क्यों दिए ? इस व्यक्ति ने हंसते हुए महिला से कहा, ये औरत मेरी पत्नी है और उसके साथ बैठे बच्चे मेरे हैं। मैं बेहद ही अमीर व्यक्ति हुआ करता था। लेकिन अचानक से मेरा व्यापार डूब गया और मेरे पास कुछ नहीं बचा। बड़ी मुश्किल से मैंने पैसे जोड़कर ये गाड़ी ली है और इस गाड़ी को चलाकर मैं पैसे कमा रहा हूं। मैं दिन रात गाड़ी चलता रहता हूं। ताकि में जल्दी से कुछ पैसे जोड़ लूं और दोबारा से अपना व्यापार शुरू कर सकूं। मुझे उम्मीद है कि अगर में मेहनत करता रहूंगा, तो मेरा ये बुरा वक्त खत्म हो जाएगा। गाड़ी वाले की ये बात सुनकर महिला गहरी सोच में पड़ गई। महिला ने विवेकानंद जी से कहा, गुरु जी क्या आपको लगता है कि ये वापस से अपना व्यापार शुरू कर सकता है और इसका बुरा वक्त खत्म हो जाएगा?

महिला की बात सुनकर स्वामी विवेकानंद जी ने कहा, ये व्यक्ति एक दिन जरूर कामयाब होगा और बहुत ही जल्द ये अपना व्यापार फिर से शुरू कर पाएगा। क्योंकि इस व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास की कमी नहीं हैं। जहां पर लोग नाकाम होने के बाद हार मान लेते हैं। वहीं इस व्यक्ति ने हार मानने की जहां अपने आत्मविश्वास को और मजूबत किया है और अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात मेहनत कर रहा है। अगर इंसान का आत्मविश्वास मजूबत हो तो वो किसी भी परेशानी को दूर कर सकता है और उसे कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता है। इतने बुरे समय में आत्मविश्वास मजबूत होना कोई आम बात नहीं हैं।

इस कथा से मिली सीख

कई बार हम लोग असफल होने पर कामयाब होने की आशा छोड़ देते हैं और आत्मविश्वास के साथ काम लेने की जगह निराश हो जाते हैं। बुरे वक्त में जो व्यक्ति अपना आत्मविश्वास मजबूत रखता है वो जरूर कामयाब होता है। इसलिए आप अपने आत्मविश्वास को कम होने ना दें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ