Random Posts

जानिये क्यों रेल गाडी में दरवाजे के पास सीट पर लगाए जाते हैं अधिक रॉड, वजह बेहद दिलचस्प है

रोज करोड़ों लोग रेलवे में सफर करते हैं और लोगों को अपनी मंजिल तक पहुंचाने का काम भारतीय रेलवे द्वारा कई सालों से किया जा रहा है। भारतीय रेलवे भारत के हर राज्य से जुड़ी हुई हैं और रेलवे की मदद से लोग आसानी से अपने गांव या शहर पहुंच जाते हैं। अधिकतर लोगों द्वारा रेल के स्लीपर और जनरल डिब्बों में ही सफर किया जाता है। क्योंकि इन डब्बों का किराया सस्ता होता है और आराम से कम पैसे खर्च किए लोग अपनी मंजिल में पहुंच जाते हैं।
अगर आपने कभी भी रेलवे में सफर किया है। तो आपने ये बात जरूर नोट की होगी कि स्लीपर और जनरल डिब्बों के दरवाजे के पास वाले कोच में बनीं खिड़कियों में बहुत सारे बार यानी सरिया लगे होते हैं। जबकि कोच की अन्य खिड़कियों में बहुत कम सरिया लगाए जाते हैं। रेलवे द्वारा ऐसा क्यों किया जाता है इसके बारे में शायद ही आपको जानकारी होगा। दरअसल ऐसा करने के लिए पीछे एक वजह है और ये वजह हम लोगों की सुरक्षा से जुड़ी हुई है।

जो खिड़की रेल के जानिये क्यों रेलवे जनरल कोच में दरवाजे के पास सीट पर लगाए जाते हैं अधिक रॉड, वजह बेहद दिलचस्प है  होती है उनमें अधिक बार इसलिए लगाए जाते हैं ताकि चोरी ना हो सके। दरअसल ये खिड़कियां दरवाजे के पास होती हैं। इसलिए आसानी से कोई भी चोर इन खिड़की से हाथ डालकर यात्रियों का सामान चुरा सकता है। इसके अलावा रात के समय जब सभी यात्री सो रहे होते हैं, तब भी चोर आसानी से इन खिड़कियों से हाथ डालकर सामान को चुरा सकता है और भाग सकता है।
रेल में सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा चोरी की वारदातों से की जा सके इसलिए दरवाजे के पास वाली खिड़कियों में अधिक बार लगाए जाते हैं। ताकि चोर आसानी से इनमें हाथ डालकर चोरी ना कर सकें और रेलवे में सफर करने वाले लोगों को अपने समान को लेकर परेशान ना होना पड़े।

रेलवे से जुड़े रोचक बातें


भारतीय रेलवे विश्व की सबसे बड़ी रेलवे है और भारतीय रेलवे से कई सारी रोचक बाते जुड़ी हुई हैं जो कि इस प्रकार हैं।
  • रेल विभाग द्वारा लगभग 13000 ट्रेनों का संचालन किया जाता है और ये रेल देश के हर कोने से चलती हैं।
  • भारतीय रेलवे में प्रतिदिन लगभग 2.5 करोड़ यात्री यात्र करते हैं और अपनी मंजिल तक पहुंचते हैं।
  • भारतीय रेलवे में 1.4 मिलियन से अधिक लोग काम करते हैं।
  • दिल्ली में स्थित रेल संग्रहालय एशिया का सबसे बड़ा संग्रहालय है। दिल्ली के अलावा कोलकत्ता, पुण और अन्य शहरों में भी करेल संग्रहालय बनाया गया है।
  • नई दिल्ली रेलवे स्टेशन दुनिया का सबसे बड़ा रूट रिले इंटरलॉकिंग सिस्टम है।
  • गोरखपुर स्टेशन दुनिया का सबसे लंबा रेलवे प्लेटफॉर्म है। जो कि 4,430 फीट लंबा है।
  • देश की सबसे लंबी रेलवे सुरंग जम्मू और कश्मीर राज्य में है जो कि पीर पंजाल है। ये सुरंग 11.25 किलोमीटर लंबी है।
  • भारत की पहली यात्री ट्रेन 16 अप्रैल 1853 को ठाणे से चली थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ