Random Posts

स्वर्गीय पिता के फोन पर रोज मेसेज भेजती थी बेटी, 4 साल बाद आया ये रिप्लाई

एक पिता और बेटी का रिश्ता बड़ा प्यारा और भावनाओं से भरा होता हैं. जब पिता का हाथ सिर पर हो तो बेटी सुरक्षित महसूस करती हैं. हालाँकि यदि पिता हमेशा के लिए दुनियां छोड़ चले जाए तो बेटी का दिल टूट सा जाता हैं. ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी लड़की की कहानी सुनाने जा रहे है जिसे पढ़ आपका दिल झंझोड़ उठेगा. अमेरिका के अर्कांसस में रहने वाली 23 वर्षीय चैस्‍ट‍टी पैटरसन के पिता का करीब चार साल पूर्व स्वर्गवास हो गया था. ऐसे में चैस्‍ट‍टी अपने पिता को रोजाना याद किया करती थी. पिता के खोने का जो दर्द था उससे उबरने हेती वो हर दिन पाने पिता के मोबाइल नंबर पर मेसेज भेजने लगी. चैस्‍ट‍टी इन टेक्स्ट मेसेजेस में अपनी डेली लाइफ की अपडेट्स लिखकर भेजा करती थी. चैस्‍ट‍टी ऐसा रोज करती थी, फिर एक दिन चार साल बाद वो उस समय हैरान हो गई जब उसके मोबाइल पर भेजे गए मेसेज का रिप्लाई आया.
दरअसल पिता की चौथी बरसी पर चैस्‍ट‍टी ने मेसेज किया था कि पिताजी कल का दिन थोड़ा कठिनाई भरा था. मैं आप से बहुत प्रेम करती हूँ. 4 साल होने को आए और शायद ही कोई ऐसा दिन जाता होगा जब मैं आपको याद नहीं करती हूँ. आई ऍम सॉरी. जब आपको मेरी जरूरत थी तब मैं मौजूद नहीं थी. इसके साथ ही चैस्‍ट‍टी ने उन्हें अपने ग्रेजुएशन और कैंसर की लड़ाई के बारे में भी लिख के बताया था. वैसे तो चैस्‍ट‍टी हर रोज मेसेज किया करती थी लेकिन इस बार उनके पिता के नंबर से रिप्लाई मिला. रिप्लाई में जो लिखा था वो बेहद भावुक कर देने वाला था.

रिप्लाई आया ‘मेरा नाम ब्रैड हैं. मैंने साल 2014 में अपनी बेटी को एक कार हादसे में खो दिया था. आपके भेजे मेसेज की वजह से मैं जिंदा हूँ. जब आपका मेसेज आता हैं तो ऐसा लगता हैं मानो ये ऊपर वाले का भेजा कोई संदेश हैं. अगर आज मेरी बेटी जिंदा होती तो शायद तुम्हारी तरह ही होती. मैं कई सालों से तुम्हारे मेसेज पढ़ता आया हूँ. रिप्लाई तो तभी करना चाहता था लेकिन आपका दिल तोड़ने की हिम्मत नहीं हुई. मैंने मेसेज के माध्यम से आपको लाइफ में आगे बढ़ते हुए देखा. आप एक बहुत बहादुर महिला हैं. अपने हर दिन की दिनचर्या से जुड़ी चीजें मेरे साथ शेयर करने का शुक्रिया.’
चैस्‍टटी ने इस घटना के बारे में अपने फेसबुक अकाउंट पर जानकारी दी. यहाँ दिलचस्प बात ये हैं कि जहाँ एक तरफ एक बेटी अपने मृत पिता को संदेश भेज किसी तरह दिल को समझा रही थी तो वहीं दूसरी और एक मृत बेटी के पिता ये मेसेज पढ़ खुद किसी तरह खुश कर लेते थे. इसे ऊपर वाले का संयोग ही कहे कि इन दोनों को एक दुसरे से इतने साल होसला मिलता रहा. ये मेसेज इन दोनों का होसला बढ़ाने का काम कर रहे थे.
सोशल मीडिया पर लोगो को ये स्टोरी बहुत पसंद आ रही हैं. इसे अब तक हजारों की संख्या में लाइक्स और शेयर मिल चुके हैं. वैसे इस तरह के दिलचस्प संयोग के बारे में आपके क्या विचार है हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताए.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ