Random Posts

अंतिम संस्कार करने से रोका तो कोर्ट ने लगाया 1 लाख का जुर्माना,जानिए क्यों

अंतिम संस्कार करने से रोका तो कोर्ट ने लगाया 1 लाख का जुर्माना,जानिए क्यों

मरने के बाद दुश्मन को भी अंतिम विदाई दी जाती  है उसे भी उसके धर्म के अनुसार सम्मान के साथ दुनिया से विदा किया जाता है लेकिन सोचिए तब क्या हो जब किसी की अर्थी को रोक दिया जाये और उसकी देह का अंतिम संस्कार करने से माना कार दिया जाए।




 ऐसी है क घटना घटी मेघालय में जहां एक मृतक की अर्थी को रोका गया और कारण था उसका धार्मिक मत जी हां मेघालय हाईकोर्ट ने खासी समुदाय के रीति रिवाजों के अनुसार अंतिम संस्कार करने से रोकने वाले चार लोगों पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। अदालत ने पाया कि इन लोगों ने संविधान का अपमान किया है। जिन चार लोगों पर जुर्माना लगाया गया है उनमें पूर्वी खासी हिल जिले में ‘हीमा मीलिएम (ग्राम पंचायत)’ का एक ‘मंत्री’ भी शामिल है।




 खासी मत को मानने वाले याचिकाकर्ता संगठन ने चार लोगों पर आरोप लगाया कि चार लोगों ने उनके मत को मानने वालों को एक मृतक का अंतिम संस्कार धार्मिक रीति रिवाज के अनुसार करने की अनुमति नहीं दी। जज ने इन लोगों पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया।



 यह राशि समाज कल्याण विभाग की तरफ से बने घरों में रहने वाले नाबालिगों के हित में प्रयोग की जाएगी। जज ने पूर्वी खासी हिल्स के जिला उपायुक्त को नियाम खासी समुदाय के सदस्यों के अंतिम संस्कार के लिए पंचायत में जगह चिह्नित करने का भी आदेश दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ