Random Posts

अपने फोन को Malware या वायरस से कैसे सुरक्षित रख सकते है



एंड्रॉइड दुनिया में सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है और मोबाइल हमलों की इस दुनिया में, आपके डिवाइस की सुरक्षा हमेशा की तरह महत्वपूर्ण है। इस आर्टिकल में हम मोबाइल फोन वायरस और मैलवेयर पर चर्चा करने जा रहे हैं।

क्या आपके एंड्रॉयड फोन में वायरस आ सकता है?

हम जानते हैं कि आप अपने फोन पर बहुत महत्वपूर्ण डेटा रखते हैं, लेकिन जब आप खबरों में सुनते हैं कि मोबाइल फोनों में कई तरह के खतरे बढ़ रहे हैं, तो आपके लिए इसे नजरअंदाज करना आसान नही होता है, उम्मीद है कि इस आर्टिकल में आपको अपने उन प्रश्नों के उत्तर मिल जाएंगे जिससे आप अपने फोन को सुरक्षित महसूस करेंगे।

एंड्रॉयड वायरस से कैसा नुकसान पंहुचा सकता है?

आपको बता दे कि "वायरस" एक ऐसा प्रोग्राम है जो किसी अन्य कार्यक्रम के साथ जुड़कर खुद को दोहराता है। हैकर अक्सर अपने गलत काम को फैलाने के लिए इस विधि का इस्तेमाल करते है। स्मार्टफ़ोन के मामले में, आज तक हमने मालवेयर नहीं देखा है जो खुद को एक पीसी वायरस की तरह दोहरा सकता है, और विशेष रूप से एंड्रॉयड पर यह अस्तित्व में नहीं है, इसलिए तकनीकी रूप से कोई एंड्रॉयड वायरस नहीं है। हालांकि, एंड्रॉयड मालवेयर के कई अन्य प्रकार हैं। अधिकांश लोग यह नही जानते है कि एंड्रॉयड में कोई भी वायरस सॉफ्टवेर काम नही करता है।

मालवेयर, डिवाइस को गुप्त रूप से नियंत्रित करने, डिवाइस के मालिक की निजी जानकारी या धन चोरी करने के लिए डिज़ाइन किया गया सॉफ़्टवेयर होता है। मालवेयर का उपयोग मोबाइल फोन से पासवर्ड और खाता संख्या चुरा लेने, उपयोगकर्ता के खातों पर झूठे आरोप लगाने और यहां तक कि उपयोगकर्ता के स्थान और गतिविधि को ट्रैक करने के लिए भी डिजाईन किया जाता है।

अपने फोन पर मालवेयर का कैसे पता लगाए?
मोबाइल सुरक्षा 2012 लुकआउट के शोध के माध्यम से, हमने पाया है कि उपयोगकर्ता का व्यवहार मालवेयर का सामना करने के आपके जोखिम को बहुत प्रभावित करता है। इसके लिए आपको हमेशा Google Play जैसे प्रतिष्ठित साईटों से जाने-माने ऐप्स को डाउनलोड करना बेहतर होगा। कुछ फर्जी ऐप स्टोर और वेबसाइटों बहुत सारे ऐसे ऐप्स है जो मालवेयर छिपाने के लिए अपना काम करते हैं, लेकिन आप उनको नही जान पाते है यदि आप सोचते हैं कि आप किसी भी ऐप के मुफ्त संस्करण को कही से भी डाउनलोड कर सकते है,तो शायद यह आपके फ़ोन के लिए हानिकारक हो सकता है।


एक बार इंस्टॉल हो जाने पर, ये ऐप्स आपको वर्णित कार्य के रूप में दिखाई दे सकते हैं, लेकिन वे अतिरिक्त गुप्त कार्यों में व्यस्त हो सकते हैं। स्नीकी, ड्राइव-बाय-डाउनलोड साइटें किसी भी उपयोगकर्ता के हस्तक्षेप के बिना संभावित रूप से दुर्भावनापूर्ण ऐप फ़ाइल डाउनलोड कर सकती हैं। एंड्रॉयड के लिए लुकआउट प्रीमियम में सुरक्षित ब्राउज़िंग इस तरह के वेब-आधारित खतरों से आप के फ़ोन को सुरक्षित रखेगा।

आप अपने और अपने मोबाइल डिवाइस की रक्षा कैसे कर सकते हैं?

मालवेयर का सामना करने के जोखिम को कम करना बहुत आसान है। यहाँ आप दो तरह से अपने फ़ोन को प्रोटेक्ट कर सकते है पहला यह है कि आप अपने फ़ोन में सिक्यूरिटी ऐप जैसे लुकआउट,जो उन अजीब "फोन वायरस" को पकड़ सकता है को डाउनलोड कर लें,और दूसरा यह कि आप जो ऐप्स डाउनलोड करते हैं उन्हें हमेशा वेरीफाईड और ट्रस्टेड साईट से ही डाउनलोड करें तथा रेटिंग की जांच करें और यह सुनिश्चित करने के लिए समीक्षा पढ़ें कि उनका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है या नही। लुकआउट किसी भी मौजूदा मालवेयर को आपके फोन या टैबलेट में से हटा देगा, और यह सुनिश्चित करेगा कि आप सुरक्षित हैं,और आपके द्वारा डाउनलोड किये जाने वाले हर नए ऐप की जांच भी करेगा।

तो क्या अभी भी आप को यह लगता है कि वायरस आपके फ़ोन में अटैक कर सकता है? बिल्कुल भी नही,क्यों कि एंड्राइड में वायरस का तकनिकी रूप से कोई आस्तित्व ही नही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ