Random Posts

रिंगटोन में लगाया जय श्री राम, घर छोड़ने को मजबूर

रिंगटोन में लगाया जय श्री राम, घर छोड़ने को मजबूर

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में एक हिंदू परिवार पलायन करने को मजबूर हो गया। इस परिवार की गलती सिर्फ इतनी है कि इसके एक मेंबर ने अपने मोबाइल में जय श्री राम की रिंग टोन लगाई।


फिर क्या था, गुस्साए दूसरे समुदाय के लोगों ने उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। असुरक्षा की भावना से युवक ने अपना घर बेच दूसरी जगह जाने का फैसला किया है। उसने घर के बाहर- 'यह मकान बिकाऊ है' भी किसी ने लिख दिया है। वहीं पुलिस ने पीड़ित परिवार की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


मामला अलीगढ़ जिले के हरदुआगंज थाना क्षेत्र के जलाली कस्बा का है। यहां रहने वाले मनीष अग्रवाल का आरोप है कि 24 मार्च की रात में वह अपनी दुकान के बाहर खड़े थे। इसी दौरान उनके मोबाइल पर एक फोन आया और रिंगटोन जय श्री राम बजने लगी। रिंगटोन की आवाज सुनकर पास में स्थित दूसरे समुदाय के मेडिकल के मालिक अपने 6-7 साथि‍यों के साथ आ गए। रिंगटोन का विरोध करते हुए वह बोले- 'तू बहुत बड़ा भक्त बनता है, तेरे बाबा की हत्या हुई थी, अब तेरी हत्या कर दी जाएगी। तुझको जलाली में रहने नहीं दिया जाएगा।'
मनीष ने इसकी शिकायत हरदुआगंज थाने में की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। आरोप है कि पुलिस का कहना था- विरोधी आपराधिक प्रवृति के लोग हैं, उनपर दर्जनों आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं, सुलह कर लो। 


मनीष का कहना है-मुझे और मेरे परिवार को जान का खतरा है। इसलिए हमने घर बेचकर दूसरे जगह जाने का फैसला किया है।


बता दें, मनीष के बाबा मूलचन्द्र अग्रवाल टाउन एरिया के चैरयमैन रहे थे। कई साल पहले लाला वाले बाग में उनकी हत्या कर दी गई थी। मनीष के परिवार में पिता वीरेन्द्र अग्रवाल, मां, पत्नी और एक बेटी है। इनकी रेडीमेड गारमेंटस के नाम से दुकान है।
एसपी ग्रामीण संकल्प शर्मा का कहना है युवक के मोबाइल रिंगटोन को लेकर विवाद पर नामजद लोगों के खिलाफ शिकायत हुई है। युवक की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। किसी को भी अपना घर छोड़कर जाने की जरूरत नहीं है। जांच में जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस बीच किसी ने दीवार पर लिखे- 'यह घर बिकाऊ है' के ऊपर पेंट कर दिया है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ