Random Posts

मेघालय: प्राकृतिक सोंदर्ये की अनुपम छटा बिखेरता शिलोंग

मेघालय: प्राकृतिक सोंदर्ये की अनुपम छटा बिखेरता शिलोंग

देश में गर्मियों  की छुट्टी पड़ते ही लोग गर्म से ठन्डे  स्थान पर घूमने की योजना  बनाने लगाते हैं। साथ में परिवार व  मित्र हो तो सैर करने का आनंद और बढ जाता है। सोशल मीडिया व गूगल पर लोग सर्च  करने लगते है कि कौन से स्थान पर भ्रमण करना फायदेमंद होगा। 

पूर्वोत्तर क्षेत्र में स्थित मेघालय राज्य पर्यटकों के लिए एक बडा केंद्र  रहा है। इसलिए नहीं कि यह ठंडी जगह है बल्कि इसलिए कि यहां  का अनुकूल मौसम और प्राकृतिक सौदेर्य दोनों पर्यटकों को भाता है। संभवत: इसलिए ही अंग्रेजों ने इस क्षेत्र को भारत का स्कॉटलैंड  की उपाधि दी। 

यूं तो राज्य में कई बड़े पर्यटक स्थल है जहां सैलानियों को  जाना बहुत भाता है। लेकिन मेघालय की राजधानी शिलोंग शहर इन दिनों सैलानियों  के लिए खास बना हुआ है।

प्राकृत्तिक्र सौंदर्य की अनुपम छटा बिखेरत्ता शिलोंग शहर सभी  का ध्यान अपनी तरफ खींच रहा है। बादलों को छू लेने का एहसास पर्यटकों के भा रहा है रोज बडी संख्या में पर्यटक आते है जो शिलोंग के प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लेने से नहीं चुक रहे। 

यहां पल भर में धूपु और अगले कुछ पल में आसमन में बादलों  का घर बन जाता है। ऊँची -ऊँची पहाड़ियों  पर बादल कुछ  इस कदर घिरे रहते है कि लोग इसे अपने कैमरे में कैद  करना नहीं भूलते। 

 गर्मी वाले राज्यों  से आने वाले पर्यटकों को शिलोंग शहर आकर  किसी स्वर्ग से कम नहीं लगता। इन दिनों फव्बारे  जैसी बारिस ने सबका ध्यान आकर्षित किया है 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ