Random Posts

असम : अंतर्राष्ट्रीय नशीली दवा सेवन और तस्करी विरोधी दिवस मनाया गया

असम : अंतर्राष्ट्रीय नशीली दवा सेवन और तस्करी विरोधी दिवस मनाया गया


देश के अन्य हिस्सों के साथ-साथ असम में भी अंतर्राष्ट्रीय नशीली दवाओं के सेवन और तस्करी विरोधी दिवस विभिन्न कार्यकमों के साथ मनाया गया । हस मौके पर अलग अलग कार्यकम आयोजित किए गए। 

समाज कल्याण विभाग ने भारतीय सामाजिक स्वास्थ्य संस्था नामक संगठन के साथ मिलकर महानगर के प्रमुख स्थानों पर नुक्वाड़ नाटक कर लोगों को जागरूक बनाने की कोशिश की वहीं दूसरी और  सीमांत मुख्यालय , एसएसबी के कलाकारों ने भी नुबकड़ नाटक के माध्यम है लोगो  को नशे से दूर रहने का पैगाम दिया ।


इसी क्रम में कामरूप महानगर जिला प्रशासन और पुलिस आयुक्तालय  ने मादक नियंत्रण ब्यूरो के  सहयोग से एक जागरुकता जुलूस निकाला। नेहरू स्टेडियम  से निकले इस  जुलूस का समापन जज फील्ड में हुआ । 

जिला विकास आयुक्त बर्नाली शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर जुलूस को रवाना किया । जुलूस में शामिल लोग तरह-तरह के नारे लिखे प्लेकार्ड का प्रदर्शन  कर आमजन को नशे से दूर रहने का संदेश दे  रहे थे।

इसी के साथ गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जीएमसीएच) के प्रशासनिक हाल में भी एक राज्य स्तरीय जागरूकता सभा का आयोजन किया गया। 


असम प्रदेश एड्स नियन्त्रण सोसाइटी ने जीएमसीएच के ओएसटी केंद्र  के सहयोग से इस सभा का आयोजन किया  था । असम प्रदेश एड्स नियंत्रण सोसाइटी के परियोजना निदेशक मानवेंद्र प्रताप सिह ने अपने स्वागत भाषण में पूवोंत्तर के विभिन्न राज्यों में बड़ी तेजी से पांव पसार रहे एड्स की भयावहता पर प्रकाश डाला।

उन्होंने अपने संबोधन में नशे का सेवन करने  के  फलस्वरूप समाज के समक्ष उत्पन्न  होने वाली समस्याओं का भी जिक्र किया । उन्होंने समाज को नशे से मुक्त  करने के साथ ही नशे के चुंगल में फंसे सभी को नशे से छुटकारा दिलाकर उनको समाज की मुख्यधारा में शामिल किए जाने के प्रयास को  लगातार जारी रखने की अपील की। 

जीएमसीएच अध्यक्ष डा अर्थिद्र कुमार अधिकारी ने समाज को नशामुक्त बनाने के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही कई योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डालने के अलावा इस संदर्भ में शिक्षक-अभिभावकों की भूमिका को भी महत्वपूर्ण बताया। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ