‘पारले जी’ के पैकेट पर छपने वाली क्यूट बच्ची अब दिखती है ऐसी, तस्वीरे देख नहीं कर पाएंगे यकीन


‘पारले जी’ बिस्कुट का नाम आते ही लोगों के मुंह में एक जमाने में पानी आ जाता था। जी हां, ‘पारले जी’ अपने जमाने का एक मशहूर बिल्कुट रहा है, जिसे बच्चे से लेकर बूढ़े तक बहुत ही चांव से खाते थे। हालांकि, बाजार में आज भी इस बिल्कुट की अपनी एक अलग पहचान है, लेकिन मॉर्केटिंग के दौर में अब इसकी लोकप्रियता कम हो गई है। ‘पारले जी’ बिस्कुट का नाम आते ही बच्चे भागने लगते थे और आज भी कुछ लोग ‘पारले जी’ के अलावा कोई और बिस्कुट छूते नहीं हैं। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?
‘पारले जी’ बिस्कुट अपने स्वाद के लिए जितना मशहूर हुआ, उससे ज्यादा अपने विज्ञापन के लिए लोगों के बीच लोकप्रिय हुआ। जी हां, ‘पारले जी’ के पैकेट पर छपने वाली वो प्यारी सी बच्ची तो आप सभी को याद ही होगी? अपनी मनमोहक स्माइल से लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करने वाली बच्ची की तस्वीर ‘पारले जी’ के पैकेट पर आजतक लगी हुई है और कंपनी इस तस्वीर को बदलना नहीं चाहती है, क्योंकि यह ‘पारले जी’ की पहचान बन गई है। तो चलिए आज हम आपको ‘पारले जी’ के पैकेट पर छपने वाली इस बच्ची के बारे में बताएंगे।

एक विज्ञापन ने बदल दी ‘पारले जी’ बिस्कुट की दुनिया

जब पहली बार ‘पारले जी’ बिस्कुट का यह विज्ञापन लोगों के बीच पहुंचा तो शायद कंपनी को भी यह अंदाजा नहीं था कि यह विज्ञापन उनकी पहचान बन जाएगा। जी हां, विज्ञापन के बदौलत आज भी ‘पारले जी’ मार्केट में अपनी पहचान बनाने में सफल है। बता दें कि ‘पारले जी’ बिस्कुट के पैकेट पर छपी बच्ची उनके लिए विज्ञापन नहीं, बल्कि कंपनी की पहचान बन गई। यही वजह है कि जब भी ‘पारले जी’ बिस्कुट का ज़िक्र होता है, तब सबसे पहले इस बच्ची की छवि आंखों में आती है।

कौन है ‘पारले जी’ बिस्कुट पर छपी ये बच्ची?

इस बच्ची को देखा सभी ने है और इसकी ओर आकर्षित हर कोई हुआ है, लेकिन इसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। जी हां, यह क्यूट सी बच्ची अब 65 साल की बूढ़ी हो गई है। हैरान मत होइये, जिस बच्ची की तस्वीर ‘पारले जी’ के बिस्कुट पर लगा होता है, अब उनकी उम्र 65 साल हो गई है। इनका नाम नीरू देशपांडे है और ये दिल्ली की रहने वाली है। नीरू की उम्र भले ही ढलती गई, लेकिन उनकी यह तस्वीर आज भी लोगों के बीच मशहूर है। नीरू कहती हैं कि बचपन में पापा ने मेरी यह तस्वीर खींचकर पारले की कंपनी को दिया था, तभी से यह विज्ञापन चल रहा है।

कंपनी नहीं हटा सकती है इस बच्ची की तस्वीर

बताते चलें कि पारले कंपनी इस बच्ची की तस्वीर चाहकर भी नहीं हटा सकती है। दरअसल, पारले कंपनी का कहना है कि लोगों के मन में ‘पारले जी’ बिस्कुट आते ही सबसे पहले यह बच्ची की छवि आती है, इसलिए इसे अब हम नहीं हटा सकते हैं और यह हमारे लिए नंबर वन विज्ञापन है, जिसे हम कभी नहीं हटाएंगे। कपंनी यह भी मानती है कि इस तस्वीर की वजह से उन्हें मॉर्केट में आज भी एक अलग पहचान मिली हुई है।